testtitle

कृष्ण ने राधा से पूछा - ऐसी एक जगह बताओ जहाँ मैं नहीं हूँ ...... राधा ने मुस्कुरा के कहा - बस मेरे नसीब में .... फिर राधा ने कृष्ण से पूछा - हमारा विवाह क्यों नहीं हुआ? कृष्ण ने मुस्कुरा कर कहा - राधे! विवाह के लिये दो लोगों का होना आवश्यक है ....हम तो एक हैं ......

Friday, September 21, 2012

याद


12 comments:

નીતા કોટેચા said...

wahhh bahut badhiya..

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

बहुत खूब ...

Ramakant Singh said...

यही तो एहसास है जिसे हम जीते पल प्रति पल

Anju (Anu) Chaudhary said...

बहुत खूब ...

काजल कुमार Kajal Kumar said...

वाह जी बल्‍ले बल्‍ले

रश्मि प्रभा... said...

ये यादें हमेशा साथ होती हैं ...

सुखदरशन सेखों said...

आप और आपके पूरे परिवार को मेरी तरफ से दिवाली मुबारक | पूरा साल खुशिओं की गोद में बसर हो और आपकी कलम और ज्यादा रचनाएँ प्रस्तुत करे.. .. !!!!!

dr sunil arya said...

nice lines....

suresh agarwal adhir said...

bahut khoob....
http://ehsaasmere.blogspot.in/

Madan Mohan Saxena said...


बहुत सुंदर भावनायें और शब्द भी ...बेह्तरीन अभिव्यक्ति ...!!शुभकामनायें.
आपका ब्लॉग देखा मैने और कुछ अपने विचारो से हमें भी अवगत करवाते रहिये.
http://madan-saxena.blogspot.in/
http://mmsaxena.blogspot.in/
http://madanmohansaxena.blogspot.in/
http://mmsaxena69.blogspot.in/

Johny Samajhdar said...

बहुत सुन्दर भाव |

Tamasha-E-Zindagi
Tamashaezindagi FB Page

सुखदरशन सेखों said...

Wao......